0


दोस्तों आपने “Om Shanti Om ” का ये dialogue ज़रूर सुना होगा.
कितनी शिद्दत से तुम्हें पाने कि  कोशिश कि है कि हर जर्रे ने मुझे तुमसे मिलाने कि साजिश कि है, 
कहते है अगर किसी चीज को अगर दिल से चाहो तो सारी कायनात तुम्हें उससे मिलाने कि कोशिश में लग जाती है ” 

इसी को सिद्धांत के रूप में आकर्षण का सिद्धांत कहा जाता है. ये वो सिद्धांत है जो कहता है कि आपकी सोच हकीकत बनती है.
  
Thoughts become things .
  
यानि हम अपनी सोच के दम पर जो चाहे वो बन सकते हैं शायद सुनने में अजीब लगे पर ये एक सार्वभौमिक सत्य है .( A Universal Truth ) पर इतनी बड़ी बात को इतनी आसानी से मान लेना बहुत कठिन है ,आपके मन में भी इसे  लेकर कई सवाल उठ सकते है, आज यहाँ पर हम इसी तरह के सवालों का समाधान जानने
कोशिश करेंगे .आज का ये लेख इस विषय पर सबसे ज्यादा पढ़े गए लेखों में से एक “
The Law of Attractionका Hindi Translation है. आपकी present और past condition कैसी भी हो ,यह बिलकुल matter नहीं करता हैं | Matter यह करता हैं कि आप कहाँ जाना चाहते हों, और आखिर आप क्या पाना चाहते
हो? अब हमारें मन में आता हैं कि, आखिर यह आकर्षण का सिद्धांत कैसे काम करता है ? जितना मेनें इसको समझा, मैं आपके साथ वही share कर रहा हुँ.....

कैसे पढ़े-

1.मित्रों एक बार इस पोस्ट को लगातार पूरी पढ़ ले, इसका एक फायदा ये होगा की आपको मोटी-मोटी बातें समझ में आ जायें.
  2.आप एक बार फिर दुबारा पढ़े धीरे-धीरे आराम से पढ़े, पढ़ते समय बीच में रुककर हर सुझाव के बारे में सोचें खुद से पूछे कि आप इसे अपने जीवन में कब और किस तरह लागू कर सकते हैं.
  इस सिद्धांत को जितना हो सका आसान बनाया गया है ताकि सब लोग आसानी से समझ सके. आकर्षण का सिद्धांत हमेशा काम करता है

The Law of attraction is always working.... 

आकर्षण का यह सिद्धांत आपको सब कुछ देता हैं ,खुशियाँ, सेहत और दौलत | हम जो कुछ चाहे पा सकते हैं, चाहें वो कितना भी बड़ा या मुश्किल क्यों ना हों | लेकिन सबसे पहले हमें यह पता होना चाहिए कि आखिर हम चाहतें क्या हैं ? यह बिलकुल स्पष्ट होना चाहिए, बिलकुल clear conscious picture हमारें पास होनी चाहिए |
हमें स्पष्ट पता होना चाहिए कि ,हमारी वास्तविक चाहत क्या हैं ? आकर्षण का सिद्धांत कहता है कि हम जो
भी सोच रहे होते हैं ,उसे हम attract कर रहे होते हैं एक बार आप इस सिद्धांत को प्रयोग करना सिख जाए तो आपकी हर इच्छा वास्तविक रूप में आपको मिल जाएगी.


For example. अगर हम अपने आपको एक चुम्बक मान लें तो हम जानते हैं कि दुसरें चुम्बक हमारी और
आकर्षित होगें | एक बार फिर मैं आपको यह बताना चाहता हुँ कि आपको यह स्पष्ट रूप से मालूम होना
चाहिए कि आप क्या चाहते हैं ? “आखिर हमें चाहिए क्या”? जैसा हम सोचते हैं, हम वैसे ही बन जाते हैं
हमारे विचार ही हमारी जिंदगी को बनाते हैं. और इसका जवाब छुपा हैं तीन आसान शब्दों में “विचार बनायें जिंदगी “ आइये अब विस्तार से बात करते है – अपने दिमाग के बंद दरवाजे खोलें और सीखना शुरू करें यह मेरा आपसे अपना निजी अनुरोध है . विचार- नेपोलियन हिल कहते है कि विचार ही वस्तु है. जो भी वस्तुएं आज हम जिन्दगी में देख पा रहे है वो सब एक प्रबल विचार की देन है और जिसने इस विचार को जन्म दिया
वो उस विचार के कारण ही अपनी जिन्दगी में अमीर बन पाया. कहने का मतलब है कि "सफलता हासिल करने के लिए इंसान को एक – दमदार विचार की ही जरूरत होती है." हमेशा उसके बारे में सोचो जो आप पाना
चाहते हो ,उसके बारे में कभी नहीं जो आप नहीं चाहतें. हम हर चीज को अपनी और आकर्षित करते हैं ,चाहें वों कुछ भी हो और कितना भी मुश्किल क्यों ना हों. मुझे पूरा विश्वास है की आप मेरी बात को समझ पा रहे हैं. हमेशा अपने सकारात्मक विचारों को प्रबल बनाओ जो आपको प्रोत्साहित करते है, आपको अपने लक्ष्य को पाने के लिए प्रेरित करते है. अपने नकारात्मक विचारों को इतना कमजोर कर दो की उन्हें महसूस हो जाये की
अब उनके लिए यहाँ कोई जगह नहीं है तो वो अपने आप आपके मस्तिष्क से बाहर हो जायेंगे . अपने हर दिन को, एक बहुत अच्छे अहसास के साथ शुरू करें फिर देखिए आपका पुरा दिन कितना खुशनुमा गुजरता हैं. आपकी हर इच्छा पुरी होती हैं. ब्रह्माण्ड से या अपने भगवान से वह माँगें जो आप पाना चाहते हैं | “सफलता उन्हीं को मिलती है जो सफलता के बारे में जागरूक होते हैं. “असफलता उन्हीं को मिलती है जो  असफलता के बारे में जागरूक होते हैं.” 


Rule.1  प्रश्न करें या माँगें जो आप चाहते हैं |  
फिर एक बार कहूँगा की अपनी असली चाहत को पहचान लें  इसके बिना आपके दिमाग में उसको पाने के लिए कोई विचार नहीं आएगा तो आखिर आप चाहते क्या हैं ? 
आपकी चाहत/सपने के लिए आप जो भी चाहते हैं उसे कागज पर लिख डालें | आपकों लिखना हैं कि आपकी जिंदगी कैसी हो ? आपको कैसा घर चाहिए ,आपको कितना धन चाहिए, आपको कब तक चाहिए ,या फिर आपका जीवन साथी कैसा हो | अपनी चाहत को पाने का व्यवहारिक तरीका- आप जो भी चाहते हैं उसे लिख डालें ,और यह भी लिखें कि आप उस चीज के बदलें संसार को क्या देने वालें है ,और अंत में ईश्वर का धन्यवाद भी दें | 

पहला कदम- मान लीजिए की आपको पैसा चाहिए तो आपको जितना पैसा चाहिए उसकी निश्चित मात्र सोच लें जिसको पाने की आपकी प्रबल इच्छा है. केवल यह कहना ही काफी नहीं है ‘ मैं ढेर सारा पैसा चाहता हूँ”. कोई निश्चित मात्रा सोच लें.

दूसरा कदम- यह तय कर लें की आप जो पैसा पाना चाहते है, उसके बदले में आप क्या देना चाहेंगे. (इस दुनिया में हर चीज की अपनी कीमत होती है कुछ भी मुफ्त में नहीं  मिलता) 

तीसरा कदम- एक निश्चित तारीख तय कर लें जब तक आप अपनी इच्छित धनराशि प्राप्त कर लेंगे. इसमें आपको उर विश्वास होना चाहिए. 

चौथा कदम- एक निश्चित योजना बना लें की आप किस तरह अपनी प्रबल इच्छा को सच बनाएंगे और फिर चाहे आप तैयार हो या न हो, एकदम काम में जुट जाए और उस योजना को कार्य रूप में ले आएं. 

पांचवां कदम- आप कितनी रकम चाहते है, उसकी समय- सीमा, आप उसके बदलें में क्या देने वाले है और वह योजना जिसके द्वारा आप इस धनराशि को हासिल करना चाहते है उसे स्पष्ट रूप से संक्षिप्त ब्यौरा लिख लें.
बिलकुल स्पष्ट लिखें, बिलकुल आलस नहीं करें. आपको अभी लिखना है . 


छठवां कदम- अपने लिखे हुए ब्योरे को जोर से दिन में दो बार पढ़ें एक बार रात को सोने से बिलकुल पहले और दुबारा सुबह उठने के तुरंत बाद. हो सके तो उसको लिख कर अपनी pocket में रखें,या आप अपना एक wish box बना सकते है जिसमे आप अपनी wishes कि list डाल सकते है आप जो भी चाहते हो उसकी list बना
लीजिए. सृष्टि को अपने menu card की तरह use करें पहले लिख दें, जो भी आप चाहते हो, फिर आदेश दें जिस प्रकार आप रेस्तरां में अपनी  इच्छित वस्तु को आदेश देते है.


 

For Example:-
मान लीजिए आप आज से पाँच वर्ष बाद पहली जनवरी तक 50,00,000 रुपये कमाना चाहते है और इस धन के बदलें में आप सेल्समैन के रूप में अपनी सेवाएँ देना चाहते है तो आप अपनी wish ऐसे लिखें .... (इसे लिख कर अपनी पॉकेट में रखे या उस जगह लगा दे जहाँ से यह आपको रोजाना याद दिलाती रही कि आप क्या पाना चाहते हे). “1 जनवरी २०__ तक मेरे पास 50,00,000 रुपये होंगे जो इस दौरान मेरे पास समय-समय पर विविध रूप में आयेंगे. ‘ इस पैसे की एवज में मैं ........................ (यहाँ पर आप उस सेवा या वस्तु का नाम
लिख दें जो आप दुनिया को देना चाहते है ) सेल्समैन के रूप में अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता से सेवाएँ दूंगा,  धिकतम संभव मात्रा और अधिकतम गुणवत्ता दूंगा.” “मुझे विश्वास है कि मेरे पास इतना पैसा होगा. मेरी आस्था इतनी दृढ़ है कि मैं इस धन को अपनी आँखों के सामने अभी देख सकता हूँ. मैं इसे अपने हाथों से छू सकता हूँ. यह मेरा इंतजार कर रहा है की यह मेरे पास आएं और उस अनुपात में आएं जिस अनुपात में मैं अपनी सेवाएँ दूंगा. मैं अब केवल उस योजना का इंतजार कर रहा हूँ जिसके द्वारा मैं इतना धन कम सकूँ जब मुझे वहाँ योजना मिलेगी तो मैं उस पर अमल करना शुरू कर दूंगा. इसे सुबह और रात को दोहराएँ जब तक की आप अपनी कल्पना में उस धनराशि को न देख लें जिसे आप कमाना चाहते है. और इसकी लिखित प्रति को वहां पर रखें जहाँ आप इसे सुबह उठते ही या सोने से पहले देख सकें. आप अपने अनुसार भी अपनी wish लिख सकते है.

अब आगे पढ़े .........

Rule.2  विश्वास .........|
विश्वास करें कि जो आप चाहते है ,वो आपको मिल चुका है .और यह विश्वास अटूट होना चाहिए। एक फिर दोहराना चाहता हूँ ,अटूट विश्वास . वो कहते हैं ना कि अगर आप कुछ भी किसी को भी पूरी शिद्दत से चाहते
है,तो पूरा ब्रह्माण्ड आपको उससे मिलाने कि साजिश करता है, यह ब्रह्मांड सब अपने आप कर देगा. “शक करने की कोशिश ना करें अपने शक को अपने अटूट विश्वास में बदल दें.” विश्वास जगाने का व्यवहारिक तरीका- अपने सकारात्मक विचारों को लिख ले और बार-बार उन्हें दोहराते रहें . इसे पढ़े जैसे की आप स्वयं अपने आप से कह रहे हो –


पहला कदम मैं जनता हूँ कि मुझमें मेरे जीवन के निश्चित लक्ष्य तक पहुँचने की योग्यता है और इसलिए मैं खुद से यह अपेक्षा रखता हूँ कि इसे हासिल करने के लिए निरंतर और लगन से कार्य करूँ और मैं यहाँ अभी अपने आप से यह वादा करता हूँ कि मैं इसी तरह से काम करूँ. 

दूसरा कदममैं जानता हूँ की मेरे मस्तिष्क के प्रबल विचार अंततः अपने आपको बाहरी, भौतिक कार्यों में बदल लेंगे और धीरे-धीरे भौतिक वास्तविकता में बदल लेंगे. इसलिए मैं अपने विचारों को प्रतिदिन 30 मिनट तक इस बात पर एकाग्र करूँगा कि मैं किस तरह का इंसान बनना चाहता हूँ ताकि मेरे मस्तिष्क में इसकी स्पष्ट छवि रहें. 

तीसरा कदम- मैं जानता हूँ की अंतः प्रेरणा से मेरे उस लक्ष्य को पाने का प्रेक्टिकल तरीका मिल जायेगा और अंततः मेरी इच्छा अपने आपको भौतिक समतुल्य में बदल लेगी और मुझे वह वस्तु हासिल हो जाएगी जिसका मैंने लक्ष्य बनाया है. इसलिए हर दिन 30 मिनट तक अपने आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए काम करूँगा.

चौथा कदम- मैंने स्पष्ट रूप से अपने जीवन में अपने प्रमुख लक्ष्य का वर्णन लिख लिया है और मैं कोशिश करना कभी नहीं छोडूंगा जब तक की मैं इसे प्राप्त न कर लूँ. पाँचवाँ कदम- मैं जनता हूँ कि कोई भी पद या संपत्ति तब तक लम्बे समय तक नहीं बना राह सकता जबतक की यह सत्य और न्याय पर आधारित न हो. इसलिए मैं किसी भी ऐसी गतिविधि में शामिल नहीं होऊंगा जिससे इससे प्रभावित होने वालों को कोई लाभ न
हो. मैं परम पिता परमेश्वर से वह शक्तियाँ प्राप्त करूँगा जिनका प्रयोग करके मैं दूसरे लोगों के सहयोग से सफलता पाऊँगा. मैं दूसरे लोगों को प्रेरित करूँगा कि वह मेरी सेवा करें क्योंकि मैं हमेशा उनकी सेवा करने का
इच्छुक रहूँगा. मैं सारी मानवता के प्रति प्रेम विकसित करूँगा और घृणा, ईर्ष्या, और दोष देखने की आदत को अपने मस्तिष्क से दूर करूँगा क्योंकि मैं जानता हूँ कि दूसरों के प्रति नकारात्मक नजरिया रखने से मुझे कभी
सफलता नहीं मिल सकती. मैं ऐसे काम करूँगा जिससे दूसरों को मुझ पर विश्वास हो क्योंकि मैं उनमें और अपने आपमें विश्वास रखूँगा. मैं इस फ़ॉर्मूला को रोज जोर-जोर से दोहराऊंगा .फ़ॉर्मूला स्पष्ट है ” आकर्षण का सिद्धांत “ 

दोस्तों मैं तो आपसे यह कहूँगा की आप बिलकुल भी शक नहीं करें कि आपकी इच्छा पूरी होगी या नहीं. अगर आप शक करेंगे तो हो सकता हे आपका शक ही आप attract करोगे और फिर आप कहोगे की ये सिद्धांत काम नहीं करता.

Rule.3 प्राप्त करना .........|
महसूस करे कि वो आपको मिल चुका है, महसूस करें जैसा आप उस चीज को पाकर करतें , जब हम कल्पना को वास्तविकता में बदलतें हैं ,तो और भी बेहतर कल्पनाएँ जन्म लेती हैं. जो आप चाहतें है, उसका अहसास जगाएँ. इसके लिए जो आप चाहते हो ,उसे जाकर देखें ,उसे छु कर देखें . विश्वास करें कि वो आपका हो चुका हैं.
जब अन्तर आत्मा कुछ करने को कहती है तो करियें विश्वास के पहले पायदान पर चढें ,आपकों पुरी सीढी चढनें की जरूरत नहीं हैं | सिर्फ पहली सीढी चढें, आगे की राह बड़ी आसान हो जाएगी ! 

Example-
आपको जो कुछ भी चाहिए उसको देखने जायें for example आपको अगर कार/घर/ या कुछ और चाहते है तो उसको जाकर देखे. उसको छूकर देखे, एक बात याद रखे कि देखने की कोई कीमत नहीं देनी पड़ती है. इससे आप उसको पाने के लिए एक कदम और आगे बढ़ा लेंगे. क्योंकि जब आप उसे अपनी आँखों के सामने देखोगे तो आपकी वह चाहत आपके विश्वास को मजबूत करेगी और आप उसे पाने के लिए दुगनी तेजी से मेहनत करोगे.  
How to attract anything ?



किसी भी चीज को attract करना बहुत आसान हैं | इस सृष्टि का इस ब्रह्मांड का कोई नियम नहीं हैं. यह तो आपके आदेश का पालन करती हैं. (ये ब्रह्मांड भी इसी आकर्षण के सिद्धांत पर टिका हुआ है, ये सब लोग जानते है कि गुरुत्वाकर्षण के बिना इस ब्रह्मांड का कोई अस्तित्व हो ही नहीं सकता, यही आकर्षण की शक्ति इस ब्रह्मांड को एक साथ बांधे रहती है. यह एक सार्वभोमिक सत्य है और इसे झुठलाया नहीं जा सकता.)
हम जो कुछ भी हैं अपने अतीत के विचारों का परिणाम हैं | (आप स्वयं विचार कर सकते हे की आप की वर्तमान में जो भी दशा है, आप आज जिस मुकाम पर है उन सब का कारण है आपके अतीत के विचार है, उन्हीं विचारों की बदौलत आप आज यहाँ पर पहुंचे है और आज आप जैसे विचारों के साथ आगे बढ़ेंगे आपका  भविष्य भी वैसा ही होने वाला है, आप आज का दिन यूँ ही तो ख़राब नहीं कर सकते तो आज से और अभी से अपने विचारो को अच्छा और पवित्र बनाना शुरू करे. आप एक दिन इन्हीं विचारों के कारण अपने आप को एक बहुत बड़े चुंबक में बदल लोगे और हर उस चीज को पाने में सक्षम हो पाओगे.) धन्यवाद देना शुरू करें, thanks बोलना शुरू करें. उन चीजों की list बनाना शुरू करें जिनके लिए आप अहसानमंद हैं. हर वक्त शुक्रिया अदा करें. Thanks बोलें! धन्यवाद दें ! तारीफ करना शुरू करें ! जब आपको कोई इच्छित वस्तु मिल जाएं तो
thanks करें ,उस परम पिता परमात्मा का जिसने हमारी मदद की उसको पाने में. अपने भगवान का शुक्रिया अदा करें . 


जैसे- सुबह उठते ही बोलें “thanks भगवान आपने मुझे एक और दिन दिया हंसने को मुस्कराने को, अपने लक्ष्य/सपने को प्राप्त करने के लिए .” अपना भोजन कर लेने के बाद बोले “ भगवान आपने आज मुझे भोजन दिया” (आप जानते है, हर इंसान या प्राणी को हर रोज भोजन नहीं मिल पाता, हर रोज हजारों लोग भूखे सोते है उन्हें भोजन नहीं मिल पाता.. ) ऐसी कोई वस्तु अपने पास रखें जिसको देखते ही आप thanks कर सके ,
(“ आप अपने हाथ में कोई bracelet पहन सकते है” ) कल्पना करें ,visualise करें. जैसा आप सोचेंगे वैसा ही आप पाएंगे ,दिमाग जैसा सोचता हैं, वही शरीर करता हैं. अहसास से attraction पैदा होता हैं, आपको महसूस करके खुशी होनी चाहिए अगर आपको car चाहिए तो महसूस करें कि आपको car मिल चुकी हैं, महसूस करें जैसा आप उसको चलाते वक्त करते ,यह जरूरी हैं कि आपको अनदेखे में विश्वास होना चाहिए. हमारा अहसास और अन्त: मन से देखना सारे के सारे बंद दरवाजे खोल देंगे. कैसे होगा यह सृष्टि के हवाले छोड़ दें,
इस नियम को हर वक्त प्रयोग में लाएँ | अविश्वास ना करें , मैंने पहले भी बताया था दोस्त शक करने कि
कोशिश कभी ना करें अपना vision बोर्ड बनाएँ , अपना dream बोर्ड बनाएँ , अगर इच्छा शक्ति हो तो क्या नहीं हो सकता हैं ? कल्पना से सब कुछ हो सकता हैं| अपनी उम्मीद से भी बड़ा मुकाम तय करें, जो भी चाहिए उसे लिख लें ,उसे रोज देखें आपको रास्ता मिल जाएगा. जब कोई प्रेरणा मिलें तो उस पर काम शुरू कर दें ,उस पर विश्वास करो. आप जो भी चाहतें हो उस पर सबसे पहले आपको यकीन होना चाहिए. कब तक चाहिए उस पर भी यकीन होना चाहिए , जो चाहिए उसके बारे में सोचें, जो नहीं चाहिए उसके बारे में न सोचें. आपको जो भी चाहिए उसको पाना बहुत आसान हैं. “हर इंसान काबिल होता है, बस वो अपनी काबिलीयत को पहचान लें”.
हमें जिंदगी के हर पहलू में अमीर होना चाहिए,हमें खुशियाँ चाहिए. और इसके लिए आप सबसे पहले अपने आप को the best समझें खुद को पसंद करें.....!! दूसरों की अच्छाइयों को देखें बुराई को नहीं,अच्छी बातें लिखें अच्छी बातें बोलें , जब भी बोले तो कुछ अच्छा बोलें ,अपनी वाणी से दूसरों को सुख पहुँचाए. Give and take का नियम याद रखें. Give and take का नियम यह कहता है कि जो आप दूसरों को दोगे, आपको भी वैसा ही
मिलेगा जैसे आप किसी कि का आदर करते है तो,वह भी आपका आदर करेगा, आप अगर गाली दोगे तो आपको भी गाली मिलेगी |  


Note-
1. दोस्तों अकसर ऐसा होता है कि जब भी हम कोई अच्छी बात पढ़ते है या कोई video देखते है तो कुछ समय तक तो हम उसको follow करने की कोशिश करते है लेकिन कुछ दिनों में हम उसे भूल जाते है, तो अगर आपको वास्तव में इस नियम का लाभ लेना हो तो आप इसे बार-बार पढ़े. 

2.सिर्फ बैठे-बैठे सोचने से कुछ भी attract नहीं होगा, आपको अपने इच्छित सपने को पाने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी. 

3.आपको अपने लक्ष्य तक पहुँचाने में हम आपकी मदद करेंगे इसके लिए बस आप समय-समय पर
हमारे इस blog पर visit करते रहे. 


Read more...
 




आपको पोस्ट पसंद आई हो तो Youtube पर क्लिक करके Subscribe करना ना भूलें

आपको पोस्ट कैसी लगी कोमेन्ट और शॅर करें

Post a Comment

 
Top