0

क्रिसमस या बड़ा दिन ईसा मसीह या यीशु के जन्म की खुशी में मनाया जाने वाला पर्व है। यह 25 दिसम्बर को पड़ता है और इस दिन लगभग संपूर्ण विश्व मे अवकाश रहता है। क्रिसमस से 12 दिन के उत्सव क्रिसमसटाइड की भी शुरुआत होती है आधुनिक क्रिसमस ट्री की शुरुआत पश्चिम जर्मनी में हुई। मध्यकाल में एक लोकप्रिय नाटक के मंचन के दौरान ईडन गार्डन को दिखाने के लिए फर के पौधों का प्रयोग किया गया जिस पर सेब लटकाए गए। इस पेड़ को स्वर्ग वृक्ष का प्रतीक दिखाया गया था। क्रिसमस ट्री अर्थात क्रिसमस वृक्ष का क्रिसमस के मौके पर विशेष महत्व है। सदाबहार क्रिसमस वृक्ष डगलस, बालसम या फर का पौधा होता है जिस पर क्रिसमस के दिन बहुत सजावट की जाती है।

अनुमानतः इस प्रथा की शुरुआत प्राचीन काल में मिस्रवासियों, चीनियों या हिबू्र लोगों ने की थी। यूरोप वासी भी सदाबहार पेड़ों से घरों को सजाते थे। ये लोग इस सदाबहार पेड़ की मालाओं, पुष्पहारों को जीवन की निरंतरता का प्रतीक मानते थे। उनका विश्वास था कि इन पौधों को घरों में सजाने से बुरी आत्माएं दूर रहती हैं। सदियों से सदाबहार वृक्ष फर या उसकी डाल को क्रिसमस ट्री के रूप में सजाने की परंपरा चली आ रही है। प्राचीनकाल में रोमनवासी फर के वृक्ष को अपने मंदिर सजाने के लिए उपयोग करते थे। लेकिन जीसस को मानने वाले लोग इसे ईश्वर के साथ अनंत जीवन के प्रतीक के रूप में सजाते हैं। हालांकि इस परंपरा की शुरुआत की एकदम सही-सही जानकारी नहीं मिलती है।

25 हजार स्वरोस्की क्रिस्टल और पांच मील तक फैली रोशनी से सजा रॉकफेलर प्लाजा क्रिसमस ट्री दुनिया का अब तक का सबसे मशहूर क्रिसमस ट्री है, लेकिन ये अकेला ही ऐसा क्रिसमस ट्री नहीं है जो इतना मशहूर है। आइए आपको बताएं दुनिया के कई और ऐसे मशहूर क्रिसमस ट्री के बारे में, जो अजीबो-गरीब तो हैं, लेकिन साथ ही उतने फेमस भी हैं।

1 . न्यूयॉर्क में खड़ा है रॉकफेलर प्लाजा का 2015 का क्रिसमस ट्री। ये 78 फुट लंबा और 47 फुट चौड़ा है। इस क्रिसमस ट्री की भव्यता को देख आप जरूर चौंक जाएंगे। दूर-दूर से क्रिसमस के मौके पर लोग इसको देखने के लिए आते हैं और देर तक यहां रुककर खूब एंज्वॉय करते हैं।

2 . करीब आध्ो से एक लाख खिलौनों की ईटों से तैयार मेलबर्न में खड़ा है 32 फुट लंबा लिगो क्रिसमस ट्री, ढेर सारे खिलौनों और कैंडी केन्स से भरा हुआ है। इस क्रिसमस ट्री को लिगो मास्टर बिल्डर स्टिनिगर और उसके परिवार ने मिलकर बनाया है।

3 . दुनिया का सबसे बड़ा तैरने वाला क्रिसमस ट्री। ये आपको मिलेगा रियो-डी-जेनेरियो के रॉड्रिगो डी फ्राइटास लगून में। इंटरलॉकिंग धातु के खंभों और बड़ी संरचना में तैयार इस क्रिसमस ट्री का वजन 386 टोन्स है। यह ट्री 2.5 मिलियन माइक्रो लाइट बल्ब से सजा हुआ है, जो दूर से ही इस ट्री का रिफ्लेक्शन दे देते हैं।

4 . लाइट स्कल्पचर कंपनी मारियानोलाइट के लकड़ी से बने स्टाइलिश ट्री में करीब 43,000 एलइडी लैम्प्स और 25,000 माइक्रो लाइट्स लगी हुई हैं। ये ट्री को आप इटली में देख सकते हैं।

5 . लंदन के सेंट पैन्क्रास ट्रेन स्टेशन में खड़ा प्लेफुल क्रिसमस ट्री देखकर किसी को भी अपना बचपन याद आ जाएगा और बच्चों के लिए तो इसका कहना ही क्या। इसकी खासियत ये है कि ये पूरी तरह से खिलौनों से ढका हुआ है। इसमें लगे सभी खिलौने डिजनी करेक्टर्स हैं। ये 45 फिट लंबा है।

6 . पेरिस में स्थित एक अजीबोगरीब ट्री को देखकर आपको जरूर लगेगा कि आप किसी और प्लैनेट पर आ गए हैं। झिलमिलाते मैटल्स और मोती सी सफेद रोशनी चादर में लिपटे क्रिसमस ट्री को देखकर आपको ऐसा अहसास होगा जैसे इतना बड़ा ये ट्री पूरी तरह से गहनों से लदा है। ये ट्री आपको पेरिस में देखने को मिलेगा।

7 . न्यू ताइपे में खड़ा क्रिसमस ट्री ऐसा पहला ट्री है, जो 360 डिग्री लाइट स्कल्पचर प्रोजेक्शन टेक्नोलॉजी से बना है। ये ट्री यहां सिटी हॉल के बाहर खड़ा है। इसकी लंबाई 118 फुट है। शाम 5.30 से 10.00 बजे के बीच आधे घंटे के अंतराल में पांच-पांच मिनट के लाइट शो में सामने आता है।

8 .लंदन के कलरफुल क्रिसमस ट्री को नाम दिया गया है 'कल्पतरु' का। इस विशिंग ट्री को लंदन के V&A म्यूजियम में लगाया गया है। इसको भारत में दिल्ली के एक डिजाइनर सार्थक सेन गुप्ता और साहिल बग्गा ने डिजाइन किया है। इसको हैंडक्राफ्ट बिटेन ब्रास से तैयार किया गया है।

9 . राकवेरे में घरों की 121 पुरानी खिड़कियों से तैयार क्रिसमस ट्री 39 फुट लंबा है। इसको बनाने में डिजाइनर को दो दिन का समय लगा। इसको शहर के ही एक आर्टिस्ट टीट सूर ने अपने कारपेंटर स्टूडेंट्स के साथ मिलकर बनाया गया है।

10 . बरबेरी के क्रिएटिव डायरेक्टर और सीईओ क्रिस्टोफर बैली हैं ब्रिटिश क्रिसमस ट्री के मास्टरमाइंड। ये आपको देखने को मिलेगा लंदन के क्लैरिज होटल में। इस ट्री की खास बात ये है कि इसको गोल्ड और सिल्वर फैबरिक छातों से बनाया गया है। इसको देखकर आपको एक बार अच्छे मौसम का अहसास जरूर होगा।

आपको पोस्ट पसंद आई हो तो Youtube पर क्लिक करके Subscribe करना ना भूलें

आपको पोस्ट कैसी लगी कोमेन्ट और शॅर करें

Post a Comment

 
Top