0







आधार को लेकर कई लोगों के मन में आशंका है कि कहीं इसकी डिटेल्स दूसरे के हाथ लगने पर दुरुपयोग तो नहीं होगा? बीते दिनों खबरें भी आई थीं कि बड़ी संख्या में लोगों की आधार कार्ड डिटेल्स सरकारी वेबसाइट से लीक हो गई हैं। बहरहाल, अब इसका इलाज भी कर दिया गया है। UIDAI की वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर बायोमेट्रिक डिटेल्स को लॉक करने की सुविधा दी गई है। बायोमेट्रिक डिटेल्स में आंखों की पुतलियों की पहचान के साथ ही फिंगर प्रिंट और कार्डधारक की फोटो होती है। फिंगर प्रिंट और आंखों की पुतलियों की डिटेल्स सबसे अहम है। इनके माध्यम से ही कार्डधारक की पहचान होती है। इसके अलावा आधार में नाम, पता, उम्र, लिंग, मोबाइल नंबर और ईमेल ए़ड्रेस भी होता है।
 
लॉक करें और बचाएं अपनी अहम जानकारी:

दरअसल, जैसे ही बायोमेट्रिक डिटेल्स को लॉक किया जाता है, कोई भी (यहां तक कि कार्डधारक भी) उसका उपयोग नहीं कर सकता है। अधिकारियों के मुताबिक, बायोमेट्रिक डिटेल्स पूरी तरह लॉक हो जाती है। यदि कार्डधारक को कहीं पहचान के लिए इस्तेमाल करना है तो वह कुछ देर के लिए अनलॉक कर सकता है। उपयोग होने के बाद यह डिटेल्स फिर लॉक की जा सकती हैं। यह बेहद आसान है। लॉक करने से आधार से मिलने वाली सुविधाओं पर कोई असर नहीं होगा।

हर 10 साल में करवाएं यह बदलाव:

UIDAI की वेबसाइट पर कार्डधारकों को सलाह दी गई है कि वे हर 10 साल में अपनी बायोमेट्रिक डिटेल्स अपडेट कराएं। यदि किसी बीमारी, इनफेक्शन या अन्य कारण से बायोमेट्रिक डिटेल्स में बदलाव आया है, तो भी आधार अपडेट किया जाना जरूरी है।





ऐसे लॉक/अनलॉक करें अपनी बायोमेट्रिक डिटेल्स:
  • आधार की वेबसाइट https://resident.uidai.gov.in/biometric-lock पर जाएं
  • अपना आधारकार्ड नंबर दर्ज करें
  • सेक्युरिटी कोड/कैप्चा दर्ज करें
  • मोबाइल पर ओटीपी मिलेगा (रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर जरूरी है)
  • आधार को लॉक कर दें।
  • अनलॉक करने की भी यही प्रक्रिया है।
Read Source Click Here

आपको पोस्ट पसंद आई हो तो Youtube पर क्लिक करके Subscribe करना ना भूलें

आपको पोस्ट कैसी लगी कोमेन्ट और शॅर करें

Post a Comment

 
Top